Topper Kaise Bane : कुछ महत्वपूर्ण बातें जो किसी भी विद्यार्थी को टॉपर बना सकती है

0
85
topper kaise bane
topper kaise bane

आज का युग कॉन्पिटिशन का युग होता जा रहा है|  हर क्षेत्र में कंपटीशन दिखाई दे रहा है कोई बिजनेसमैन है तो दूसरे बिजनेसमैन को मात देने के लगा हुआ है| कोई अभिनेता है तो उसे दूसरा अभिनेता उसे मात दे रहा है  ! कोई छोटा सेल्समैन है तो उसे भी कोई दूसरा सेल्समैन मात दे रहा है कि यानि कि हर जगह कंपटीशन है|

अब बात करते हैं विद्यार्थी जीवन के दौर की जंहा पर विद्यार्थी भी दूसरे विद्यार्थियों को कंपटीशन दे रहे हैं ! कोई  विद्यार्थी टॉपर बन जाए तो उसे दूसरा विद्यार्थी मात देने में लग जाता है ऐसे में हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने वाले हैं जो किसी भी विद्यार्थी को टॉपर बना सकती है ! How to become Topper in Class अगर कोई भी विद्यार्थी उन्हें अपने जीवन में उतार ले तो वह निश्चित ही टोपर बन सकता है ! टॉपर बनना उतना मुश्किल नहीं है जितना हम अपने मन में सोच लेते है ! बस कुछ चीजों पर  ध्यान देना पड़ता है जो आपको सफल होने से रोकती है ! 
 

1. सकारात्मक नजरिया  { Possitive  Attitude }

जीवन की तेज रफ्तार में आज का व्यक्ति तनावपूर्ण जिंदगी जी रहा है ऐसी स्थिति में नकारात्मक सोच ( Possitive  Think ) , सकारात्मक सोच ( Negative Think ) पर हावी हो जाती है ! जिसके कारण हमारे मन में गलत विचार आने शुरू हो जाते हैं ! हमें अपने स्वयं पर शक होने लगता है ! हम एक छोटी से सफलता से ही खुश हो जाते है ! सकारात्मक सोच रखने से हमे आगे बढ़ने में मदद मिलती है ! कार्य करने की इच्छा पैदा होती है ! मन खुश रहता है आगे बढ़ने के लिए मन मे अच्छे अच्छे विचार होते हैं ! सकारात्मक सोच एवं दृढ़ संकल्प के बल पर लोगों ने असंभव दिखने वाले लक्ष्य को भी प्राप्त किया है  जिनकी कभी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी छात्रों में एक दूसरे से आगे जाने की दौड़ लगी रहती है यह दौड़ उन्हें कुशल बनाती है, निखारती है, अपनी काबिलियत पहचानने में मदद करती है ! लक्ष्य तय करने के बाद लक्ष्य को प्राप्त करना ही सबसे बड़ी चुनौती है !
सकारात्मक विचारों के साथ आगे बढ़ने की जिम्मेदारी हमारी स्वयं की होती है ! आज के समय में हमारा सामाजिक व्यवहार नकारात्मक विचारों से भरा है ! जहां पर ज्यादातर लोग दूसरों को हौसला देने के बजाय उन्हें रोकने की कोशिश करते हैं ! अपने नकारात्मक विचारो की बारिश हम पर करते है ! ऐसी स्थिति में आगे बढ़ने के लिए स्वयं को सकारात्मक रखना बेहद चुनौतीपूर्ण होता है !

जिस प्रकार अगर आपके सामने आधे पानी से भरा गिलास रखा जाए  तो किसी को गिलास आधा खाली नजर आएगा और किसी को गिलास आधा भरा नजर आएगा !

 
2. अच्छे चरित्र वाला बने  { Be good character }

आज के इस अश्लीलता से भरे वातावरण में चरित्रवान बने रहना बहुत मुश्किल लगता है लेकिन आज के समय में चरित्रवान बने रहने की बहुत आवश्यकता है इसकी जिम्मेदारी हमे स्वयं लेनी होती है ! तभी हम अच्छे चरित्र वाले बन सकते हैं ! हम ऐसे गंभीर समय से गुजर रहे हैं जहां पर चारों तरफ फिसलन ही फिसलन है ! आपको  स्वयं के अलावा इससे कोई बचाने वाला नहीं है ! चरित्र को खराब करने के लिए नए-नए साधन आ रहे हैं ! जो समय हमारे जीवन को एक सही दिशा देने का होता है !  उस कीमती समय को हम गलत कार्यो में लगा देते है !

आज की इस नौजवान पीढ़ी के बच्चों को गलत दिशा में ले जाने का सबसे बड़ा हाथ अश्लील टीवी विज्ञापन ,
अश्लील पत्रिकाएं , ऑनलाइन मूवी, इंटरनेट अखबारों में फैली अश्लीलता, खुले में लगे अश्लील बोर्ड को माना जाता है!  जो पैसे कमाने के चक्कर के बच्चो का भविष्य बर्बाद कर रहे है ! इसलिए स्वयं के चरित्र को जितना बचाने की जरूरत आज है वह पहले कभी नहीं थी ! आज के समय में आपने लोगों को यह कहते हुए भी सुना होगा बिना गलत काम किए बेईमानी के छल कपट से कोई भी तरक्की नहीं कर पाता है ! जो बात बिलकुल सही साबित नहीं हो पाती है ! लेकिन यह भी सत्य है कि किसी को धोखा देकर छल, कपट, बेईमानी से कमाया गया धन कभी भी मन को सुख नहीं दे सकता ! गलत तरीके से कमाए गए धन से सुविधाओं के साधन तो खरीद सकते हो लेकिन वास्तविक मन की शांति नहीं खरीद सकते !

3. पहनावा अच्छा रखे  { Dress well }

जिस प्रकार आप किसी भी व्यक्ति के बैठने के तरीके, बात करने का तरीके से उसके व्यक्तित्व का अंदाजा लगा सकते हैं ! ठीक उसी प्रकार आपका पहनावा भी आपके व्यक्तित्व को आईने की तरह स्पष्ट कर देता है ! वही  पहनावा हमारा आने वाले भविष्य तय करता है ! स्कूल कॉलेजों में जींस टॉप पहनना गलत नहीं है लेकिन यदि जींस और टॉप बहुत टाइट है तो पहनने वाले को तो परेशानी होती है लेकिन दूसरे देखने वाले छात्रों को भी अनावश्यक रूप से उत्तेजित करती है ! कुछ विद्यार्थी छात्र जीवन को कॉलेज मस्ती वाला मानते हैं वह उनकी बहुत बड़ी भूल होती है जो भविष्य में उन्हें केवल पछतावा देती है काश उस समय थोड़े से पढ़ लेते तो अच्छा रहता ! छात्र-छात्राएं ऐसे कपड़े पहन कर घर से निकलते हैं जैसे वह किसी फिल्म के सूट के लिए जा रहे हो या मॉडलिंग करने जा रहे हो बालों का अजीबो-गरीब स्टाइल फटी हुई जींस का डिजाइन,टॉप पर लिखे कुछ असाधारण शब्द विपरीत सेक्स को आकर्षित करते है ! बहुत सी लड़कियां ऐसे कपड़े पहन कर घर से निकलती है जो शरीर को छुपाते कम दिखाते ज्यादा है ऐसे कपड़े पहन कर पता नहीं क्या बड़प्पन समझती है !

इन फैशनेबल कपड़ों का ट्रेंड आज के समय में दिन प्रतिदिन  बड़े शहरों में ज्यादा देखने को मिल रहा है ! पता नहीं ऐसे पहनावे के पीछे उनकी क्या सोच रहती है ऐसे पहनावो को चलाने का ट्रेंड सबसे ज्यादा जो कॉपी किया जाता है इसमें बॉलीवुड इंडस्ट्री का सबसे बड़ा हाथ माना जाता है ! ऐसे अश्लील कपड़े ना केवल खुद को लक्ष्य से भटक आते हैं बल्कि दूसरों को भी अपनी और आकर्षित कर उन्हें भी लक्ष्य से भटकाते है ! आज के छात्र बिना परफ्यूम लगाए कॉलेज के लिए नहीं निकलते है चाहे उन्हें बिना नहाये एक हफ्ता गुजर गया हो बालों मे जेल लगाकर अजीब लंगूर बंदरो जैसी हेयर स्टाइल बनाकर निकलना किसी भी विद्यार्थी को शोभा नहीं देता इससे इंसान के व्यक्तित्व का पता चल जाता है ! आज का समय ब्रांड्स  का बोलबाला है  ब्रांड्स  के नाम पर आज मार्केट में फटी हुई जींस  टी शर्ट खूब बिकती है

विद्यार्थी जीवन में की गई मेहनत हमारा भविष्य तय करती है ! उस समय को हम ज्यादातर ऐसे ही कामों में बर्बाद कर रहे हैं छात्र जीवन को हम जितना सामान्य रखेंगे उतना ही हमारा भविष्य उज्जवलता की तरफ जाएगा ! इसलिए अपने उज्जवल भविष्य के लिए छात्र जीवन में सादगी लाए शालीनता लाये और हमेशा खुश रहे जिसके कारण हर कोई आपको देखकर मुस्कुराता रहे !

 

4. संकल्प शक्ति को मजबूत करे { Strengthen the will Power }

संकल्प शक्ति एक ऐसी अविरल ऊर्जा है जो आपको लक्ष्य प्राप्त करने हेतू कठिनतम कार्य करने को प्रेरित करती है ! संकल्प शक्ति ही एक ऐसी शक्ति है जिसकी वजह से हम विपरीत परिस्थितियों मे भी अपने लक्ष्य को प्राप्त करने मे लगे रहते है ! जो मनुष्य के चेतन मन को हर समय सोते उठते कार्य करने के लिए उत्साहित रखती है ! किसी भी कार्य को करने कर लिए संकल्प बहुत जरूरी है चाहे वो कार्य छोटा या बड़ा जैसा भी हो !
बिना संकल्प के हम सफलता प्राप्त नही कर सकते है ! विद्यार्थी जीवन मे भी खुद से संकल्प करना पड़ता है !
हार की भटकाने वाली चीजों से खुद को बचा कर रखना पड़ता है अपने आप को संकल्प लेकर एक दायरे में बांधना होता जो हर किसी के बस में नहीं होता है इन नियमों का पालन कोई कोई विधार्थी कर पाता है

इस दुनिया में जिस भी व्यक्ति ने संकल्प लेकर कार्य किया है उसी ने इतिहास रचा है ! दुनिया मे बहुत बड़ी सफलता भाग्य के भरोसे बैठे रहने से नहीं मिलती है और न हीं बिना मेहनत किये मिलती है ! 
सफलता के रास्ते से होकर आने वाले हर यात्री को असफलताओं की कटीली झाड़ियों से होकर गुजरना पड़ता है  ! आज के छात्र की सबसे बड़ी जरूरत अपनी संकल्प शक्ति को मजबूत करने की है ! मेहनत से कभी पैर पीछे ना करें संयम रखें और आगे बढ़ते जाएं !

5. आलस्य त्यागे और मेहनती बने { Be lazy and hardworking }

कोई भी आलसी इन्सान  महान नहीं बन सकता है किसी भी इंसान का आलसीपन ही उसकी सफलता में बाधा बनता है !  सफलता पाने के तरीके हर किसी के अलग अलग हो सकते  है किसी को स्कूल,कॉलेज में अच्छे नंबर लाने की होड़ है तो किसी को अपने बिजनेस बढ़ाने की होड़ है ! ये काम आप तभी कर पाएंगे जब आलस्य को त्याग दें ! वर्तमान में सफल होने वाले छात्र आलस्य को त्याग कर दिन रात मेहनत से पढ़ाई करते है ! कोचिंग संस्थान में जाकर मेहनत करते हैं तब जाकर आप  जीवन में अच्छी सफलता की कल्पना कर सकते है ! और बहुत से  छात्र समय को बर्बाद कर रहे  है आज की पढ़ाई को कल पर टालते रहते है ! इसलिए वे  1 दिन में  इकट्टी पढ़ाई कभी कर ही नहीं पाते है  इसलिए अछूते रह जाते है

आज का काम आज ही करें कल पर ना टाले 
कहा भी गया है ! किसी भी कार्य को लगातार 21 दिन तक करने से वह काम आपकी आदत और दिनचर्या मे आ जाता ! आपने निश्चय किया है कि मैं सुबह 5:00 बजे उठकर पढूंगा जब उठने का नंबर आया तो फिर सोचने लगे आज और रहने दो कल से पक्का उठ जाऊंगा इसी आलसी पन के कारण हम पीछे रह जाते हैं और यही आलस्य  हमें जिंदगी भर दुख देता है हमें इस आदत से छुटकारा पाना होगा ! 

दूसरी ओर जो छात्र निश्चय के साथ रोज सुबह उठकर पढ  रहा है !और अपनी जानकारी बढ़ा रहा है कर्मटी बना है तो न पढ़ने वाला विद्यार्थी उसकी होड कैसे कर पाएगा !आपके विश्वास के साथ की गई मेहनत आपको मंज़िल तक पहुचा सकती है !और आलस्य को अपना कर जीत के पास होते हुए भी आप हार सकते हो !

6. भोजन अच्छा ले { Have a good meal }

विधार्थियो के अध्ययन के दौरान मानसिक एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना बेहद जरूरी होता है ! परीक्षा के दौरान छात्र पर बहुत दबाव होता है ! इसलिए परीक्षा के समय आपको स्वयं के खान पान पर भी अच्छा ध्यान देना चाहिए जो आपके मस्तिष्क एवं शरीर को हर तरीके से फिट रखे ! नही तो अगर आप  पेपर समय में बीमार हो जाते है तो आपकी पूरे साल की मेहनत बेकार होने की संभावना रहती है ! ऐसे में आप किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी विशेषज्ञ से भी खान पान के बारे मे सलाह ले सकते है ! 

पढ़ाई के समय मानसिक एवं शारीरिक शक्ति के लिए विटामिन एवं अंडा युक्त भोजन जैसे दाल, पालक, सोयाबीन, अंकुरित अनाज, अंडा एवं मछली को सम्मिलित करें ! समोसा, कॉफी, पिज़्ज़ा, बर्गर जैसे जंक फूड  फूड से दूर ही रहे तो ये आपके स्वस्थ के लिए बेहतर होगा ! परीक्षा के दौरान बहुत से  छात्र खाना खाने के बजाएं विटामिन एवं आयरन की गोलियां खाना शुरू कर देते हैं !  बाजार में ऐसी बहुत से दवाइयां मिल जाती है जिन्हें इस्तेमाल करके छात्रों को इतना फायदा तो कुछ नहीं होता जितना आपके शरीर को अंदरूनी नुकसान हो जाता है ! ऐसी गोलियां खाने से शरीर को पूरी तरह से फाइबर नहीं मिल पाता है जो कि शरीर के लिए बहुत जरूरी है  एवं कई अन्य खनिज की पूर्ति भी नहीं हो पाती है !

इसकी अपेक्षा मौसम के फल अंकुरित अनाज एवं  नींबू संतरा का सेवन करें ! खाना एक साथ अधिक खाने के बजाय थोड़ा थोड़ा पांच-छह बार खाये ! इससे आलस्य एवं नींद से बचाव होता है खाने के तुरंत बाद पढ़ने के लिए ना बैठे थोड़ा इधर-उधर टहलने ले ! नाश्ता जरूर करें एवं परीक्षा के दिनों में कैल्शियम प्रोटीन फाइबर युक्त नाश्ता करे ! 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here