Positive Attitude Kaise Banaye Hindi : अपना नजरिया सकारत्मक करने के 5 महत्वपूर्ण टिप्स

0
86
positive attitude kaise banaye hindi

इंसान का नज़रिया ही उसके जीवन में आने वाली सफलता का चुनाव करता है जिस इंसान का नज़रिया जैसा होता है उस के साथ उसी प्रकार का व्यवहार होने लगता है एक नज़रिया इंसान की पूरी जिंदगी को बदलने की ताकत रखता है इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने वाले है जिसकी सहायता से आप अपने नज़रिये को सकारात्मक बना सकते है सकारात्मक नज़रिया बनाने के लिए किन किन चीजों की जरूरत होती है | नज़रिये को सकारात्मक कैसे बनाये

1 अपनी सोच बदले और अच्छाई को खोजें Change Your Mind and Find the Good

अपना नज़रिया सकारात्मक Positive Attitude बनाने की दिशा में पहला कदम यह है कि हमें अच्छी चीजों की खोज करनी होंगी !हमें हर चीज के सकारात्मक पहलू पर ध्यान देना होगा ! हम ज्यादातर इस प्रकार के माहौल में रहते हैं जहां पर दूसरों की अच्छाइयों पर नहीं उसकी कमियों पर ध्यान दिया जाता है और हमे इसकी आदत हो जाती है|

इसलिए हम दूसरों की अच्छाइयों से सीखने की बजाय उन्हें अनदेखा कर देते हैं | आप दूसरों में वही देखते हो जैसा आपकी सोच होती है | अगर आप दूसरों में कमियाँ ढूंढोगे तो आपको हर जगह कमियाँ ही नजर आएँगे , परंतु अगर आपकी सकारात्मक सोच है तो आप जिंदगी में हर किसी से कुछ ना कुछ सीख सकते हो|

नकारात्मक सोच Negative Thinking वाले लोग हर चीज में कमियाँ निकालते हैं चाहे कोई चीज उनके सामने कितनी सुंदर क्यों न हो वह उसमें मौजूद कमी पर ही नजर डालेंगे | वह किसी भी चीज में कमी निकालने में स्वयं को महान समझते हैं जैसे कि वह बहुत बड़ा काम कर रहे हैं ! वे अपनी सभी समस्याओं के लिए दूसरों को दोष देते हैं | अच्छे लोगों की मेहनत पर भी पूरी तरीके से पानी फेरने की पूरी कोशिश करते है , वे अपने विचार से ऐसा माहौल बना देते हैं|

जिससे कुछ लोगो को लगने लगता है शायद इनकी बात ठीक भी हो सकती है ऐसी में वे हार ,आम लेते है और अपने कदम पीछे खींच लेते है , हमेशा याद रखना ऐसे नकारात्मक सोच वाले लोग आपको हर जगह मिलेंगे आप इनसे कही नहीं बच सकते इनसे आप तभी बच सकते है|

अगर जीवन में कुछ करना नहीं चाहते हो लेकिन अगर आप जीवन में कुछ करना चाहते है तो उनसे डर कर कभी हिम्मत मत हारना जब आप सफल हो जाएँगे तब ये आप से नजर भी नहीं मिला पाएंगे|

अब अच्छे पहलू पर ध्यान देने का मतलब केवल यह नहीं है कि आप कमियों को नज़रअंदाज़ करें | सकारात्मक पहलू पर ध्यान देते हुए अपने कमियों को सुधारने का प्रयास करते रहे धीरे-धीरे कमियाँ अच्छाइयों में बदल जाएगी | अपनी सोच को मजबूत बनाने के लिए अपने आप को इतना मजबूत बनाना होगा|

कि नकारात्मक लोगों की बातें आप पर असर ना करें और अपने प्रत्येक मिलने वालों से भी उनकी अच्छी सेहत और ख़ुशी के बारे में बातचीत करें | उन्हें उनकी असली ताकत का एहसास कराये कि वे क्या कर सकते हैं | पिछली ग़लतियों को भुला कर आगे के बारे में अच्छी सोच रखें | अपने आपको सफल लोगों में देखने के लिए इतना व्यस्त कर दो कि दूसरों की आलोचना करने के लिए आपके पास वक्त ही ना बचे|

2 काम को पूर्ण करने की आदत डालें Get used to Getting Things Done

ज्यादातर लोगों की जिंदगी काम को टालते टालते गुजर जाती है !अगर आपको कोई भी काम एकदम करना पसंद नहीं है ! तो आपको इसका खामियाजा बाद में भुगतना पड़ता है ! काम को टालते रहने की वजह से हम कार्य को उस समय भी नहीं कर पाते है|

जो समय हम कार्य को टालने के बाद निर्धारित करते हैं , बहुत से कार्य हम टालते टालते कभी नहीं कर पाते है | लेकिन बाद में उस कार्य को लेकर हमारे मस्तिष्क में नकारात्मक विचार आने लगते हैं जिसके कारण हमारे मस्तिष्क काफी थकान महसूस करने लगता है | कोई भी कार्य पूरा होने पर आपको सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है|

उसके बाद आप अगले प्लान की तैयारी करते हैं ! जिससे आप अपने लक्ष्य के करीब पहुंचते हैं ! लेकिन अगर आप एक ही जगह पर काफी समय से भटके हुए हैं तो यह आपके लक्ष्य के लिए अच्छी बात नहीं है | इसलिए अगर आप अपने आप को सकारात्मक रखना चाहते हैं अच्छे निर्णय की उम्मीद रखते हैं ! तो आज मैं जीने और कार्य को तुरंत करने की आदत डालें|

इसको ऐसे समझते हैं –

जब आप बचपन में होते हैं , तो आप सोचते हैं मैं बड़ा होकर ऐसा काम करुंगा | जिससे मुझे और मेरे परिवार को खुशी और पैसा दोनों मिले | जब आप बड़े हो जाते है तो आप सोचते है मैं वह कार्य कॉलेज की पढ़ाई पूरे होने पर करुंगा | जब कॉलेज की पढ़ाई पूरी हो जाती है तो आप सोचते है मुझे खुशी तब मिलेगी | जब मुझे नौकरी मिल जाएगी|

जब आपको नौकरी मिल जाती है तब आप सोचते हो मुझे खुशी शादी के बाद मिलेगी | अब शादी होने पर वह सोचता है , उसे खुशी बच्चे हो जाने के बाद मिलेगी , फिर आप सोचते हो | मुझे खुशी नौकरी से रिटायर होने के बाद मिलेगी ! जब आप रिटायर हो जाते है , तो आप देखते हो आपकी पूरी जिंदगी केवल सोचने में ही उसकी आंखों के सामने से गुजर गई लेकिन वह कभी खुश नही रह पाया|
इसलिए
जहां पर जिस माहौल में रहो | हमेशा खुश रहने की आदत डालो|

कुछ लोग ऐसे होते हैं , जिन्हें कुछ करने को बोला जाता है तो वह बोलते हैं | मैं अभी इसके बारे में गहराई से सोच रहा हूं, उसे ऐसा सोचते सोचते महीने साल गुजर जाते हैं | लेकिन वे किसी कार्य की शुरुआत नहीं कर पाते हैं , आपको जीवन मिला है|

यह आपके लिए बहुत बड़ा अवसर है | इसलिए इसको ऐसे ही बर्बाद कर देना बहुत बड़ी बेवकूफी है | इस जीवन में आपकी आने वाली पीढ़ियों का भविष्य दांव पर लगा रहता है इसलिए समय का सही उपयोग करे और अपने बेहतर भविष्य के लिए अपने वर्तमान समय का उपयोग रोजाना सही दिशा में करें | अपने नज़रिए को सकारात्मक बनाए रखने के लिए आज जो काम करना है | उसे कल पर न टाले वाले आज ही दी जिये|

3 लगातार ज्ञान बढ़ाए Continuously Increase Knowledge

बहुत से छात्र इस ग़लतफहमी में रहते है उन्होंने स्कूली शिक्षा पास कर ली है | अब उनके पास ज्ञान की कोई कमी नहीं है | सच तो यह है कि स्कूल में कुछ ही लोग शिक्षा प्राप्त करते हैं ज्यादातर छात्र उससे वंचित रह जाते हैं|! हम केवल किताबी ज्ञान को ही शिक्षा का रूप दे देते हैं | बौद्धिक शिक्षा हमारे मस्तिष्क पर असर डालती है|

जबकि नैतिक शिक्षा हमारे मन को प्रभावित करती है यदि आप मन को ट्रेनिंग नहीं देते हैं तो यह आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है, यदि हम स्वयं का और समाज निर्माण चाहते हैं ! तो हमें ईमानदारी , दया , साहस , दृढ़ता ,आत्मविश्वास जैसे गुण विकसित करने के लिए नैतिक शिक्षा बेहद जरूरी है|

नैतिक स्तर पर कामयाब आदमी उस आदमी से बेहतर है जो शिक्षित होने के बावजूद नैतिक ज्ञान से दूर है | जो उसके जीवन में काम आने वाला है | आज के समय में आप शिक्षित होने की डिग्री कुछ रुपयों में प्राप्त कर सकते है | लेकिन नैतिक शिक्षा जो आपके जीवन भर काम आने वाली है उसको सीखने के लिए लगातार प्रयास करते रहे और उन्हें जीवन में अप्लाई भी करे|

आसान भाषा में कहा जाए तो शिक्षित लोग भी होते हैं जो कठिन परिस्थितियां होने के बावजूद भी अक्लमंदी और साहस से काम लेते हैं | अगर आपके पास ज्ञान की कमी है तो बुरी बात नहीं है बुरी बात है पूरी जिंदगी ज्ञान के बिना गुजार देना | ज्ञान प्राप्ति के लिए बिल्कुल भी प्रयास ना करना | जैसे एक इंसान पढ़ना नहीं जानता और दूसरा पढ़ना जानते हुए भी नहीं पढ़ता दोनों में कोई फर्क नहीं रह जाता|

दुनिया में सीखते तो बहुत लोग हैं लेकिन उसको इस्तेमाल कितने करते हैं यह बहुत बात मायने रखती है|

जिस प्रकार शरीर से काम लेने के लिए उसे भोजन ( खुराक ) की जरूरत होती है जिसके काम करने की एक समय सीमा होती है कि आप शरीर से कितने समय तक काम ले सकते है ! ठीक उसी प्रकार मन से काम लेने के लिए मन को भी खुराक की जरूरत होती है और मन की खुराक है|


रोजाना अच्छे विचार सुनना अच्छी संगत में रहना क्योंकि जैसी संगत में रहोगे वैसी ही खुराक आपके मन को मिलेगी फिर आपका मन वैसे ही कार्य करेगा | इसलिए लगातार सकारात्मक विचार अपने मन में डाले इससे आपके अंदर आत्मविश्वास Self-Confidence और साहस का भंडार जमा हो जाएगा जिसके सही इस्तेमाल से आप अपनी जिंदगी को सही दिशा में ले जा सकते हैं|

4 नकारात्मकता से बचे Avoid Negativity

समय के अनुसार लोगों के व्यवहार में भी बदलाव आ रहे हैं , लगातार नकारात्मक बातें सुनने से लोग प्रभावित हो जाते हैं | अगर हम सदैव नकारात्मक चिंता करने वालों के साथ रहेंगे तो हम भी उनके जैसे ही बन जाएंगे | दुनिया में जब कोई सफल होता है, तो नकारात्मक तुच्छ किस्म के लोग उन पर कीचड़ उछलते हैं भिन्न भिन्न प्रकार से गिराने की कोशिश करते हैं | हम ऐसे लोगों से दूर ही रहे तो बेहतर रहेगा | बहुत से लोग अपने इच्छाओं को दबा कर दुनिया से ही चले जाते हैं|

इसे इस प्रकार से समझते हैं

मार्शल आर्ट में इस बात को सिखाने में ज्यादा जोर दिया जाता है | जब कोई आप पर पर हमला करे तो उसे रोकने की बजाय अपनी जगह से हट जाए | क्योंकि रोकने के लिए भी ऊर्जा की जरूरत होती है | इसका इस्तेमाल बेहतर कार्यों में करिए | छोटी सोच रखने वाले नकारात्मक लोगों को समझाने के लिए भी आपको निचले स्तर पर जाना होगा | वे आपसे यही चाहते हैं इसलिए इन पर ध्यान न देकर अपने कार्य पर ध्यान दें|

किसी भी व्यक्ति का चरित्र उसके व्यवहार से ज्यादा इस बात पर निर्भर करता है कि वह कि प्रकार के लोगों के बीच में रहता है | अगर आप लोगों से पूछोगे कि वो नशा क्यों करते हैं तो जवाब मिलेगा मजा लेने तनाव दूर करने के लिए|

आज के समय में अश्लील ज्ञान की भरमार है | बच्चों से लेकर पुरुषों महिलाओं तक सब अश्लील साहित्य के शिकार है पुस्तकों में अश्लील लेख छपे होते हैं | टीवी पर अश्लील वीडियो देखने को मिल रहे है और अब तो आप अपनी इच्छा के अनुसार मोबाइल पर अश्लील वीडियो भी देख सकते हैं | जिसकी सबसे ज्यादा लत युवा पीढ़ी को लगी हुई है|

जो उनके भविष्य के लिए सही नहीं है, ऐसी लत उन्हें नकारात्मकता की ओर ले जाती ह जिसके कारण उनके मन में नकारात्मक विचार आने लगते हैं और वे उन पर एक्शन भी लेते हैं | यहां तक कि वे अपराधी भी बन जाते हैं , अगर ऐसा हो तो आपको इन हालातों से स्वयं को बचना होगा | देश में अपराध यौन हिंसा बच्चों के यौन शोषण जैसे मामले बढ़ते जा रहे हैं ! जो किसी भी देश के लिए बुरी खबर है ! टीवी और मोबाइल पर नशा करने वाली चीजों को बढ़ावा मिल रहा है जिसके कारण इनको देखने वालों के मस्तिष्क में ऐसा संदेश जाता है कि यह अच्छी चीजें हैं ! जो मौज-मस्ती के लिए उपयोग की जाती है|

आजकल गालिया देना आम हो गया है | जिसके कारण बच्चों से लेकर बड़ों तक आपस में बात करते समय भी गालियों का इस्तेमाल ऐसे करते हैं जैसे वो बहुत अच्छे शब्द बोल रहे हैं | मज़ाक करे तो गलियों का इस्तेमाल करते हैं |

गुस्से में हो तो गालियो का इस्तेमाल करते हैं | फिर बच्चे भी धीरे-धीरे वही गालियां बोलने लगते हैं , लगातार इन शब्दों को सुनने के कारण ये गंदे शब्द उनकी जबान पर रट जाते हैं | अब बच्चे भी उन शब्दों का उपयोग करने लगते हैं | कुछ माता-पिता स्वयं बच्चों को गालियां देकर डांटते हैं जो कि अच्छी बात नहीं है|

ऐसी गलत भाषा का उपयोग करने वालों के पास अक्सर शब्दों की कमी होती है | जिसके कारण वह छोटी-छोटी बात पर स्वयं को काबू नहीं रख पाते फिर ऐसी भाषा का इस्तेमाल करते हैं | इसलिए जितना हो सके अपने आप को ऐसी गलत संगत और गलत भाषा का इस्तेमाल करने वालों से स्वयं को बचाना चाहिए|

आप स्वयं में एक हीरे की तरह है क्योंकि हीरो पर लगा दाग अच्छा नहीं होता|

5 दिन की शुरुआत अच्छे काम से करें Start the Day with Good Work

अपने नज़रिए Attitude को सकारात्मक बनाने के लिए आपको दिन की शुरुआत भी अच्छी आदतों से करनी होगी अगर आप किसी गलत आदत में उलझे हुए हैं , तो पहले आपको अपनी आदतों में सुधार करना होगा, क्योंकि खराब आदत आपको कभी भी सकारात्मक ऊर्जा प्रदान नहीं कर सकती | दिन की शुरुआत में पहले उठने के बाद हल्का व्यायाम करे जोकि स्वास्थ्य के लिए बेहतर है फिर अपना ध्यान कुछ समय के लिए ईश्वर में लगाएँ | ताकि आपका मन एकाग्र चित्त हो सके उसके बाद आप कोई अच्छी पुस्तक भी पढ़ सकते है|

जो सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करें या कोई अच्छी वीडियो ऑडियो सुन सकते हैं ! क्योंकि रात को सोने के बाद हमारा तनाव दूर हो जाता है , और हमारा अवचेतन मन किसी भी बात को बड़ी आसानी से मान लेता है |

इसलिए हमेशा सुबह के समय कोई अच्छी पुस्तक या अच्छी ऑडियो का फायदा भी ले सकते हैं | फिर दिन भर के लिए आपकी लय अच्छी बनी रहती हैं और आपका दिन अच्छा निकल जाता है | अगर आप जीवन में कुछ करना चाहते हैं तो सबसे पहले स्वयं में बदलाव करने का संकल्प लें | अच्छा व्यवहार , अच्छी आदते और अच्छे विचारों को अपने जीवन का हिस्सा बनाओ |

दूसरों के प्रति अच्छी भावना रखें अगर आप दूसरों के प्रति अच्छी भावना रखेंगे तो लोगो के दिलो में आपके प्रति इज़्ज़्त बढ़ेगी |

तहजीब से बोलो इज़्ज़त मुफ्त मिलेगी ,ईश्वर आपको खराब परिस्थिति दे सकता है ये उसके हाथ में है ,लेकिन उन परिस्थितियों से कैसे गुजरना है ये आपके हाथ में है|

दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों में शेयर कीजिये अगर आपको पसंद न आया हो तो हमें कमेंट करके बताये कि कहा पर आपको अच्छा नहीं लगा ताकि हम अगले लेख मे सुधार कर सके | ताकि आप लिखे गए आर्टिकलों से कुछ न कुछ सीखते रहे |

मैं इस वेबसाइट पर ज्यादातर विद्यार्थियों की समस्याओं से संबंधित आर्टिकल लिखता हु जो उन्हें आगे बढ़ाने में मदद करेंगे , आप सभी सहयोग करते रहे जितना ज्यादा आप सहयोग (पसंद) करोगे उतने ही आर्टिकल हम आपके लिए लेकर आते रहेंगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here