Negative Thoughts Kaise Dur Kare : नकारात्मक विचार आने के 4 प्रमुख कारण

0
46

दोस्तों आपके मस्तिष्क में नकारात्मक विचार Negative Thoughts आना लाज़मी है परंतु लगातार अपने आप को नकारात्मक रखना भी कहां सही है हर किसी के मस्तिष्क में कभी ना कभी नकारात्मक विचार आ ही जाते हैं | परंतु उनको अपने ऊपर हावी कभी मत होने दे नहीं तो आप ओगे कभी नहीं बढ़ पाओगे | इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे कारण बताने वाले हैं जिसके कारण आपके मस्तिष्क में नकारात्मक विचार Negative Thoughts आने लगते हैं |

1. बीते हुए समय का अफसोस Regret of the past


दोस्तों ये कहानी हर किसी के साथ होती है कि समय बीत जाने पर हम उसकी वेल्यू जान पाते हैं और बाद में यह भी सोचते रहते हैं कि जब हमारे से अब तक कुछ नहीं हो पाया तो आगे कैसे होगा तो उस समय हमारे मस्तिष्क में ऐसे गलत विचार आने लगते हैं जिनसे कुछ फायदा तो नहीं होगा बल्कि आने वाला भविष्य भी खराब हो सकता हो सकता है बीते हुए समय पर पछतावा करने से अच्छा है आने भविष्य के लिए तैयारी करना जिसकी दौर अभी आपके हाथ में है अगर आप अब भी अपने समय का सही इस्तेमाल करते हो तो आपके भविष्य सही दिशा में जा सकता है|


कहा भी गया है जब जागो तभी सवेरा

2 गलत संगत में रहना Stay in the wrong company

दोस्तों इस संगत का असर सबसे ज्यादा इंसानों पर पड़ता है इस संगत के कारण ही कोई भी इंसान कोयले से हीरा बन जाता है दूसरी ओर जिसे सबसे ज्यादा लोग स्वीकार करते हैं ! गलत संगत में रहने की वजह से ज्यादातर लोग हीरे से कोयला बन जाते हैं , क्योंकि गलत संगत में रहने वाले लोगों के बीच लगातार नकारात्मक बातें होती रहती हैं एक दूसरे को गिराने वाली बात होती है आपस में एक दूसरे का उत्साह काम किया जाता है|


जिसके कारण हमारा मस्तिष्क उन बातों को स्वीकार करने लग जाता है इस संगत में अगर कोई सफल होने की बात करता है तो दूसरे लोग उसे यह बोल कर पीछे धकेल देते हैं कि तेरा कुछ नई होने वाला चाहे कितनी भी मेहनत कर ले बस ऐसे ही वक्त गुजार ले क्या करेगा इतना पैसा कमा-कर आधी जिंदगी तो निकल गई है | आधी और कट जाएगी|

ऐसी संगत में रहकर कोई भी व्यक्ति अपने आप को सकारात्मक Possitive नहीं कर सकता अगर उसे सकारात्मक रहना है , जिंदगी में कुछ करना है ,आगे बढ़ने है तो सबसे पहले अच्छी संगत का चुनाव करना हमारी ज़िम्मेदारी है|

कहा भी गया है सुनार के घर का कूड़ा भी लाख के भाव बिकता है

3. अपने अंदर की शक्ति का पता न होना Lack of Strength


दोस्तों यह बात भी सत्य है कि ईश्वर ने हम सबको एक जैसा बना कर भेजा है किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं किया है परंतु फिर भी कुछ लोग जिंदगी को जीते हैं और ज्यादातर लोग जिंदगी को काटने का दावा करते हैं यह सब हो पाता है उनकी इंटरनल पावर की वजह से जो लोग अपनी अंदरूनी शक्ति को जान जाते हैं|

वह दुनिया में बड़ा काम कर जाते हैं और जो लोग अपने अंदर की शक्ति को नहीं जान पाते वह अपना समय जिंदगी को और दुसरो को कोसने में गुजार देते है | ईश्वर को बुरा भला कहते हैं | जब तक आप अपने अंदर की असली शक्ति को नहीं जान पाओगे तब तक आप अपने लिए नकारात्मक विचार Negative Thoughts उत्पन्न करते रहोगे | मुझसे नहीं हो सकता हमारी किस्मत ही खराब है मैं सफल नहीं हो पाऊंगा ! ऐसे ही नकारात्मक रहकर आप कभी भी सफलता की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं|

4 . लगातार असफल होना Continuous Failure

दोस्तों जब हम किसी काम की पूरी जानकारी लिए बिना उसमे इतना डूब जाते हैं और हम उस कार्य में लगातार मेहनत करने के बावजूद असफल हो जाते हैं तो हम दूसरा प्रयास करने से पहले हमारे मस्तिष्क में Negative नकारात्मक विचार आने लगते हैं अगर फिर से मेरे साथ ऐसा हो गया तो लोग दोबारा मेरा मजाक बनाएँगे|

जब आप किसी कार्य में असफल हो जाते हो तो आपको नकारात्मक करने वाले और लोग भी आ जाते हैं हमने तो पहले ही बोला था कि ऐसा होगा आपको करने से पहले ही मना किया था | ऐसी स्थिति में जहां पर आपको थोड़े हौसले की जरूरत होती है वहां पर आप दूसरे लोगों की नकारात्मकता वाली बातें सुनकर नकारात्मक हो जाते हो|

अगर आपके साथ कुछ ऐसा भी हो जाता है | तो आपको उसमे बारीकी से देखना होगा की मैंने कमी कहा पर की जो मुझसे हो नहीं पाया आपको वहां से सीख लेनी है ! और फिर से प्रयास करना है | अबकी बार आपको पहले वाली कमियों को नहीं दोहराना है अगर आप एक ही गलती बार बार करते रहोगे तो यह आपके लिए समस्या बन जाएगी|

दूसरे लोग चाहे कुछ भी बोले आपको अपने आप से बात करते हुए बोलना है ! मैं कर सकता हूं , मैं विजेता हूं , मैं इतिहास बना कर दिखाऊंगा जैसे शब्द बोलकर आप खुद को उत्साहित कर सकते हो|
कहा भी गया है –


कोई आपको तब तक नहीं हरा सकता जब तक कि आप खुद से ना हार जाओ

दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों में share जरूर करे ताकि उनको भी कुछ सीखने को मिले पोस्ट आपको जैसे नहीं लगी हो हमें comment में बताये ताकि हमें पता चल सके की हम जो आपके लिए लिख रहे है उसमे कहा पर सुधार की जरूरत है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here