Investment Banking Course : इन्वेस्टमेंट बैंकिंग मे करियर कैसे बनाए ?

0
28
investment banking me career kaise banaye
investment banking me career kaise banaye

अक्सर छात्रों में इस बात को लेकर काफी कंफ्यूजन रहता है कि 12वी के बाद कौन से कोर्स को चुने जिन छात्रों की पसंद बैंकिंग और इन्वेस्टमेंट क्षेत्र में है और उन्होंने अपनी 12वीं की परीक्षा कॉमर्स साइड से पास की है तो आप अपना इन क्षेत्र में अच्छा करियर बना सकते हैं इसलिए अगर आप अच्छा वर्किंग एनवायरमेंट अच्छा सैलरी पैकेज और बेहतर करियर की तलाश में है तो आपके लिए इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के रूप में अच्छा विकल्प उपलब्ध है जो भविष्य में आपके लिए कारगर साबित हो सकता है

इन्वेस्टमेंट बैंकर कौन होते हैं

किसी भी सरकारी तथा प्राइवेट कंपनियों में इन्वेस्टमेंट बैंकरो की महत्वपूर्ण भूमिका होती है ! इन्हें कंपनी से जुड़े आर्थिक लेन देन, टेस्टिंग डवलपमेंट, फंड लोन स्टॉप , आर्थिक मोडिफिकेशन कंपनी कैपिटल संबंधी समस्याओं को हल करना होता है ! इन्वेस्टमेंट बैंकर को ग्राहक को लोन दिलाने से लेकर निवेश करने तक की प्रक्रिया में सहयोग करना पड़ता है ! इन्वेस्टमेंट बैंकर को अपनी टीम के साथ मिलकर कंपनी की वित्तीय रूपरेखा भी बनानी पड़ती है|

यह कंपनी के वित्तीय मामलों को लेकर ज्यादा से ज्यादा लोन फंड के लिए क्लाइंट के साथ मीटिंग भी करते है इन सब से अलावा इनकी कुछ और भी ज़िम्मेदारी होती है जिन पर इन्हे ध्यान देना पड़ता है| इसके अलावा इन्हे निम्नलिखित विषयों पर भी ध्यान देना होता है

इन्वेस्टमेंट बैंकर के कार्य

इन्वेस्टमेंट के क्षेत्र में ज्यादातर नंबरों का खेल होता है इसलिए एक अच्छा फ़ाइनेंशियल एडवाइजर बनने के लिए आपको फ़ाइनेंशियल गणित अच्छे से समझ में आना चाहिए ! एक अच्छा फ़ाइनेंशियल एडवाइजर वही होता है जो बाजार के अनुसार अपने ग्राहकों को इन्वेस्ट करने की सही सलाह देता है जिससे उन्हें ज्यादा से ज्यादा रिटर्न मिल सके| यह अपने ग्राहकों को अलग-अलग प्रकार की सर्विसिंग जैसे कि इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट,इनकम टैक्स डिप्रेशन, प्रिपरेशन रियल इन्वेस्टमेंट प्लानिंग के रूप में अपनी सेवाएं देते हैं |

अगर आपका बैंकिंग के क्षेत्र में अच्छा इंटरस्ट है तो आप इस क्षेत्र में अपने कदम बढ़ा सकते हैं | फ़ाइनेंशियल एडवाइजर अपने ग्राहकों को सही जगह पर इन्वेस्ट करने की सलाह देते हैं ! वह अपने ग्राहकों को इन्वेस्टमेंट जीवन बीमा बचत योजना इत्यादि के बारे में समय के अनुसार सही सलाह देते है ! जिसकी वजह से ग्राहकों को ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो |

वैल्यूएशन एनालिसिस करना
कैपिटल स्टोकर्स
ट्रांजैक्शन को एनालाइज करना
फ़ाइनेंशियल मॉडल्स बनाना
क्लाइंट मीटिंग के लिए प्रेजेंटेशन तैयार करना
कैपिटल मार्केट एक्टिविटीज

योग्यता Qualification

इस क्षेत्र में अच्छा करियर बनाने के लिए आप अपनी 12वीं की परीक्षा गणित या कॉमर्स विषय के साथ पास करे ! उसके बाद इस क्षेत्र मैं स्वयं को दिशा देने के लिए फाइनेंस इकोनॉमिक्स या बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन से ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं !
इस क्षेत्र मे मास्टर्स की डिग्री लेने के लिए किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन ग्रेजुएशन होना जरूरी है !इससे पहले इस क्षेत्र में केवल कॉमर्स वाले छात्र ही कैरियर बना सकते थे|


लेकिन समय के साथ क्षेत्र में काम करने वालों की मांग बढ़ती जा रही है इसलिए BA, B.Sc Math, BBAकरने वाले छात्र भी इस क्षेत्र से संबंधित कोर्स में कर में दाख़िला ले सकते हैं ! लेकिन अच्छे पद पर जाने के लिए आपके पास बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन मैं मास्टर, एमबीएफाइनेंस, चार्टर्ड अकाउंट, कॉस्ट एंड मैनेजमेंट अकाउंटेंसी , कंपनी सेक्रेटरी या सीएफए की डिग्री होना अनिवार्य है !

MBA in Finance
MS in Finance
Master’s Degree in Financial Engineering
Post Graduate Diploma in Banking and Finance
Advance Diploma in Banking and Finance
Masters in Commodity Finance
Chartered Accountant
MIB ( Master of International Business )

इसके अलावा आप पोर्टफोलियो मैनेजमेंट के शॉर्ट टर्म कोर्स भी कर सकते हैं लेकिन इन कोर्स को करने के बाद आपको अच्छे पद पर नौकरी मिलना असंभव है |

नौकरी के अवसर

  • निवेश फर्म
  • क्रेडिट एजेंसी
  • सिक्योरिटी एंड कमोडिटी ब्रोकरेज
  • इन्शुरन्स कंपनी
  • फ़ाइनेंशियल कंसल्टेंसी
  • इन्वेस्टमेंट बैंक
  • ऐसेट मैनेजमेंट फर्म बैंक
  • बिज़नेस न्यूज़ पेपर
  • बैंक इंडस्ट्रीट्रेडिंग कम्पनी

नौकरी के पद

  • फ़ाइनेंशियल` प्लानर
  • इन्स्योरेन्स अंडरराइटर
  • फ़ाइनेंशियल एडवाइजर
  • फ़ाइनेंशियल एकाउंटेंट
  • फ़ाइनेंशियल ऑडिटर
  • इकोनॉमिस्ट
  • इंस्युरेन्स सेल्स एजेंट
  • लोन ऑफिसर
  • पर्सनल फ़ाइनेंशियल एडवाइजर
  • टेक्स इंस्पेक्टर
  • रेवेन्यू एजेंट
  • फ़ाइनेंशियल एनालिस्ट
  • फ़ाइनेंशियल कंसल्टेंट


दूसरी योग्यताएं Other Skills

आपके पास मैथ में अच्छी पकड़ होना जरूरी है , ताकि निवेश से जुड़ी मैथमेटिकल गणना-ये योजनाओं के लाभ के बारे में आसानी से समझ सके और अपनी बात दुसरो को समझा सके|
इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने के लिए इंटर पर्सनल स्किल होना बेहद जरूरी है उन्हें कार्यालय में कई तरह के लोगों से बातचीत कर डाटा जुटाना पड़ता है इसलिए उन्हें बाहरी व्यवहार में निपुण और प्रभावी होना चाहिए ताकि वह दूसरों से विशेष विषय संबंधी कार्य आसानी से करवा सके|


एक अच्छा इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने के लिए आपके पास अच्छे कम्युनिकेशन स्किल होना बेहद जरूरी है ! ताकि आप दूसरों की बातें अच्छे से समझ सके और अपनी बात उन तक सही तरीके से पंहुचा सके|
इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने का सपना देखने वालों को बिज़नेस और सेल्स का अच्छा ज्ञान होना चाहिए ताकि वे अपने क्लाइंट को आर्थिक लक्ष्यों का ज्ञान आसानी से समझा सके|
इस क्षेत्र में बहुत आगे तक जाने के लिए आपको मार्किट का ज्ञान भी रखना बहुत जरूरी है , क्योंकि मार्किट में समय समय पर उतार चढ़ाव आते रहते है जिसकी वजह से आपको पता रहता है की अब इन्वेस्ट करने के लिए कौन सी जगह सबसे अच्छे रहेगी इसलिए मार्किट ज्ञान पर भी ध्यान देते रहे|


इन्वेस्टमेंट में खुद का बिज़नेस कैसे स्टार्ट करे

अगर आप इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने के बाद लिए स्वयं का बॉन्ड स्टॉक और इंश्योरेंस पॉलिसी बेचना चाहते हैं ! और अगर वे इस इन्वेस्टमेंट के क्षेत्र में एक अच्छा बिजनेसमैन बनना चाहते हैं तो उन्हें इस उम्मीदवारी के लिए सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया सेबी में खुद को पंजीकृत करा कर लाइसेंस लेना होगा ! तभी वे इस पद के लिए योग्य माने जाएंगे |

सेबी में खुद को रजिस्टर कराने के लिए आपके पास फाइनेंस और अर्थ शास्त्र बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन और बैंकिंग इंश्योरेंस तथा अन्य संबंधित क्षेत्रों में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री, मास्टर्स की डिग्री या फिर इन विषयों में बैचलर डिग्री होना होने के साथ-साथ 5 साल का अनुभव होना चाहिए ! तभी आप इस लाइसेंस के लिए अप्लाई कर सकते हैं इसके अलावा रजिस्टर्ड इन्वेस्टमेंट कंसलटेंट बनने के लिए फ़ाइनेंशियल प्लानिंग या पोर्टफोलियो मैनेजमेंट में सर्टिफिकेशन करनी पड़ेगी |

इसके बाद आपको नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटी मार्केट द्वारा आयोजित 2 एग्जाम सीरिज़ एक्स -ए -इनवेस्टमेंट एडवाइजर ( लेवल 1 ) सर्टिफिकेशन एक्जाम और सीरीज एक्स-बी- इन्वेस्टमेंट एडवाइजर ( लेवल 2 ) सर्टिफिकेशन की परीक्षा पास करनी होगी ! इसके साथ ही आप सर्टिफाइड फ़ाइनेंशियल प्लानर या सीडब्ल्यूएम सर्टिफ़िकेट भी कर सकते हैं ! यह सभी सर्टिफ़िकेट आप नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ सिक्योरिटी मार्केट द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से कर सकते हैं !

वेतन ( Sallery )


क्योंकि इस क्षेत्र में करियर की अपार सम्भावना ये है तो जाहिर से बात है आपको सेलरी भी अच्छी मिल जाएगी शुरुआत की अगर बात की जाये तो आपको 20 से 30 हजार मिल जाएँगे बाद में आपके अनुभव और आपकी जानकारी के हिसाब से सेलरी बढ़ेगी 5 साल से अच्छे अनुभव के बाद आपकी सेलरी 1. 5 से 2 लाख रूपये प्रतिमाह तक जा सकती है ! लेकिन अगर आप खुद का इन्वेस्टमेंट बिज़नेस स्टार्ट करते हो तो इसमें आपकी कमाई की कोई लिमिट नहीं है आप अपनी मेहनत के अनुसार कमाई कर सकते हो !

देश के कुछ प्रमुख संस्थान

Department of Financial Studies Delhi University
TKWS Institute of Banking & Finance New Delhi, Delhi
The Institute of Chartered Financial Analysts of India, Hyderabad
Symbiosis International University Noida
Xavier Institute of Management Bhubaneswar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here