Graphic Designer Kaise Bane : ग्राफिक डिजाइनर कैसे बने

5
39
graphic designer kaise bane
graphic designer kaise bane

आज का युग दिन प्रतिदिन डिजिटल होता जा रहा है जिसमे सूचनाओं का आदान प्रदान भी ज्यादातर डिजिटल तरीको से उपयोग किया जा रहा है ! ऐसे में डिजिटल होती दुनिया में ऐसे बहुत से क्षेत्र है जिसमें ग्राफ़िक डिजाइनिंग का बहुत बड़ा योगदान रहा है।

डिजिटल दुनिया में हम जितने भी लुभावने पोस्टर , होर्डिंग , कार्टून फोटो , नए नए डिज़ाइन की फोटो एल्बम या अन्य किसी भी प्रकार के डिजिटल फोटो सभी ग्राफ़िक डिज़ाइन के अंदर आते है जो ग्राफ़िक्स डिजाइनरों के मेहनत से बनाये जाते है।

इस क्षेत्र में किसी भी व्यक्ति की सफलता उसके मस्तिस्क की क्रिएटिविटी द्वारा प्राप्त की जाती है, जिसमे दैनिक उपयोग से लेकर इंसान की मृत्यु तक काम आने वाली चीजों को एक नए डिज़ाइन में बदलना जो उसे दुसरो से अलग बनता है। आजकल ग्राफिक्स के कार्य वेबसाइट डिज़ाइन से लेकर फिल्म इंडस्ट्री तक उपयोग लाये जाते है।


पुराने समय में ग्राफ़िक्स से जुड़े ज्यादातर कार्य विदेशो में होते थे। लकिन समय बदला जिसके बाद धीरे धीरे तकनीके विकसित हुई जिसके कारण अब ग्राफ़िक्स के कार्य यही पर होने लगे अब धीरे धीरे आने वाले समय में ग्राफ़िक्स का कार्य और तेजी से बढ़ रहा है। जिसके कारण ग्राफ़िक्स डिजाइनरों मांग बढ़ती जा रही है। इसलिए आप इस क्षेत्र में अपने कदम बढ़ा सकते है। इस आर्टिकल में हम आपको ग्राफ़िक डिजाइन से जुडी सभी जानकारी बताने वाले है। कि ग्राफिक डिजाइनर कैसे बने graphic designer kaise bane


ग्राफ़िक डिजाइन का इतिहास

वैसे तो डिजाइन का कार्य प्राचीन काल से चला आ रहा है पहले के समय में डिजाइन का कार्य पत्थरो पर किया जाता था।लकिन इसका उल्लेख 19 वी सदी की अंत में हुआ था। जो धीरे धीरे विकसित होकर 1980 के अंत से लेकर 1990 तक कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की मदद से होने लगा। समय के अनुसार ग्राफिक डिजाइन में बड़े परिवर्तन आये। इंटरनेट का उदय होने के बाद तो ग्राफिक डिजाइनिंग ने एक मजबूत पकड़ बना ली है। जो दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, और आने वाले समय में यह और बढ़ने वाली है।


ग्राफ़िक्स डिजाइन क्या है

ग्राफ़िक डिजाइन का प्रारूप यह है कि जिसमे ऑडियंस को किसी भी प्रकार का मेसेज देने के लिए उस मेसेज को इमेजेज आर्ट ,फोंट्स , सिंबल टाइपोग्राफी ,कलर्स ,को एक साथ मैनेज करके जो डिजाइन तैयार होता है वह ग्राफ़िक्स कहलाता है। डिजाइन को बनाने के लिए आप किसी भी टूल का उपयोग बना कर सकते है।

यह आपके ऊपर निर्भर करता है आज के डिजिटल युग ग्राफ़िक्स का कार्य कम्प्यूटर द्वारा किया जा रहा है जिसमे आप भिन्न भिन्न सॉफ्टवेयर के द्वारा डिजाइन तैयार कर सकते है। सबसे ज्यादा ग्राफ़िक डिजाइन के कार्य डिजिटल विज्ञापन, न्यूज़ पेपर मीडिया, फिल्म इंडस्ट्री , में किये जाते है। यात्रा करते समय आप जितने भी डिजाइन अपनी आखो से देखते है, उन सभी को कही न कहीं ग्राफ़िक डिजाइनर द्वारा ही तैयार किया जाता है।


ग्राफिक डिजाइनर कैसे बने

वैसे तो ग्राफिक डिजाइनर बनने के लिए कोई स्कूली शिक्षा तय नहीं है,, कि आप इन कक्षा को पूरी करने के बाद ही ग्राफिक डिजाइनर बन सकते हो, ये आप के ऊपर निर्भर करता है की आप किस तरह के डिजाइनर बनना चाहते है आपके मस्तिष्क में चीजों को डिजाइन करने की क्रिएटिविटी कितनी है।


अगर आप ग्राफिक डिजाइनर बनना चाहते है तो आपको कम से कम 12 वी पास तो होना चाहिए। जिससे आपको इसमें उपयोग किये जाने वाले टूल सही तरीके से समझ में आ सके। आप अपनी पसंद के अनुसार ग्राफिक डिजाइन कोर्स को ग्रजुऐशन या पोस्ट ग्रजुएशन करने के बाद भी कर सकते है।

इसके लिए आप 6 माह से लेकर 3 साल तक के डिप्लोमा कर सकते है। ये आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कितने तरह की डिजाइनिंग सीखना चाहते है ,क्योकि प्रत्येक सॉफ्टवेयर में अलग तरह की डिजाइनिंग का कार्य किया जाता है। इसलिए आप पहले ये तय करे की आपको किस तरह की डिजाइनिंग सीखनी है।


एक अच्छा डिजाइनर बनने के लिए ड्राइंग ,टाइपोग्राफी , लेआउट तथा चित्र संबंधित जानकारी होना अनिवार्य है तभी आप इस क्षेत्र में विशेषज्ञ बन सकते है। इसके साथ ही इमेज की स्थिति के अनुसार फोंट्स स्टाइल , कलर कोम्बीनेसन , और फोटो चुनने की समझ होना बेहद जरूरी है।


चूँकि हर डिजाइन एक सॉफ्टवेयर में नहीं बन सकते है इसलिए एक अच्छा ग्राफ़िक डिजाइनर बनने के लिए आपको विभिन्न सॉफ्टवेयरो को उपयोग करना आना चाहिए ताकि जरूरत पड़ने पर काम में आ सके।


मीडिया उद्योग में ग्राफ़िक से जुड़े विभिन्न कार्य किये जाते है जिसमे समाचार पत्रों तथा पत्रिकाओं को अंतिम रूप देते हुए लेआउट तथा इन्फोग्राफिक्स या डाटा विजुलाइजेशन पर वर्क करते है। कुछ ऐसे ग्राफ़िक्स डिजाइनर भी होते है जो वेब डिजाइनिंग में भी महारत हासिल कर लेते है।


आपको लगातार स्वयं को सकारत्मक रखने की आदत डालनी होगी। तभी आप अपने मस्तिष्क में अच्छे अच्छे डिजाइन की कल्पना कर पाओगे, क्योकि ग्राहक को संतुस्ट करना कोई आसान कार्य नहीं है, दिन पर दिन डिजाइनर बढ़ते जा रहे है। अगर कस्टमर को आपके डिजाइन से संतुस्ती नहीं होती है तो वो तुरंत नया डिजाइनर तलाश कर लेता है।

ग्राफ़िक डिजाइनर के कौशल

  • PHOTOSHOP
  • COREL DRAW
  • PAGE-MAKER
  • ILLUSTRATOR
  • IN DESIGN
  • LIGHTROOM
  • AFTER EFFECTS
  • PREMIUM PRO
  • SPARK
  • FLASH
  • ADOBE XD
  • DREAMWEAVER
  • BANNER DESIGN
  • FONTS STYLE
  • COLOR
  • WEBSITE LAYOUT DESIGN

रोजगार के अवसर Job opportunities

कुछ सालो पहले ग्राफ़िक डिजाइनर की मांग केवल मेट्रो सिटी में होती थी। लेकिन डिजिटल समय होने के कारण अब छोटे शहरो में भी इनकी मांग होने लगी है। ग़ाफ़िक डिजाइनिंग Graphic Designing का बाजार दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। ये आपके ऊपर निर्भर करता है कि आपको डिजाइनिंग के बारे में जानकारी कितनी है क्योकि अगर आपको डिजाइनिंग के बारे में सम्पूर्ण जानकारी नहीं है, तो आप डिजाइन की कल्पना भी नहीं कर पाओगे।

आज के समय में सबसे ज्यादा डिजाइनर की जरूरत Add Agency विज्ञापन एजेंसी , प्रिंट इंडस्ट्री Print Industry , वेबसाइट डिजाइन एजेंसी Website Design Agency , Digital Agency डिजिटल ऐजंसी ,Newspaper Compney न्यूज़ पेपर कम्पनी में हो रही है।

ग्राफिक डिजाइनर की इनकम

ऑनलाइन ई कॉमर्स बिज़नेस के प्रोडक्टों को अच्छी तरीके से डिजाइन करने में ग्राफ़िक डिजाइनरों का बहुत बड़ा हाथ होता है। जो बिजनेस प्रेसन्टेशन में इस्तेमाल किये जाने वाले आकर्षक डिजाइन भी इनके द्वारा ही बनाये जाते है, जो ग्राहकों को अपनी और आकर्षित करते है ! अंत में आप ये बात याद रखे की जिस व्यक्ति के पास जितना ज्यादा अनुभव होता है कम्पनिया उस व्यक्ति को उतना अच्छा सेलरी पैकेज देते है।

शुरुआत में आपको ट्रेनी ग्राफ़िक डिजाइनर के तौर पर 10 हजार से 15 हजार रूपये तक मिल सकते है उसके बाद जूनियर ग्राफ़िक डिजाइनर बनने पर 15 से 20 हजार रूपये महीने तक मिल सकते है ! दो से तीन साल का अनुभव होने पर 25 से 30 हजार रूपये महीने तक कमा सकते है ! उसके बाद आर्ट डायरेक्टर बनने पर 35 से 40 हजार रूपये महीने तक आपको मिल सकते है।


जब आप इस क्षेत्र में महारत हासिल कर लेते है तो फिर आप लाखो रूपये महीनो की इनकम कर सकते है, जोकि अपने आप में एक बहुत बड़ी रकम है।

अगर आप अपनी इनकम इससे भी ज्यादा करना चाहते है, तो फिर आप स्वयं की ग्राफ़िक्स डिजाइनिंग के कार्य सम्बन्धी कम्पनी भी खोल सकते है या ऑनलाइन फ्रीलेंसिंग कार्य करके आप प्रति मिनट के हिसाब से पैसे कमा सकते है। उसकी कोई लिमिट नहीं है ये आपके ऊपर निर्भर करता है की आप कार्य को किस तरह करते है।

आज के समय में लोग सबसे ज्यादा फ्रेलेंसिंग कार्य करना पसंद करते है जिस में घर बैठे ही ग्राहकों का कार्य करते है और अपना पैसा सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर करवाते है ! बहुत से लोगो ने इस प्रकार कार्य करके लाखो रुपयों से लेकर करोड़ो रुपयों तक कमाया है।

ग्राफ़िक्स डिज़ाइन सम्बन्धी कुछ संस्थान

  • APJ INSTITUTE OF DESIGNING NEW DELHI
  • AREENA ANIMATION , NEW DELHI
  • TGC ANIMATION AND MULTIMEDIA , NEW DELHI
  • SYMBIOSIS INSTITUTE OF DESIGN , PUNE
  • NID (NATIONAL INSTITUTE OF DESIGN), AHMEDABAD
  • PEARL ACADEMY, (DELHI, MUMBAI, JAIPUR)


अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने पढ़ने वाले सभी दोस्तों में शेयर करे करे उन्हें भी अच्छे अच्छे कोर्स के बारे में जानकारी मिलती रहे जिससे उन्हें अपना करियर सवारने का मौका मिले।

5 COMMENTS

  1. bilkul aap seekh sakte hai
    ager aapka bjat ho to aap kisi bhi institute se seekh sakte hai lekin ager aapke paas bajat nhi hai to aap youtube ki help se bhi seekh sakte hai aise bahut se chennal hai jo bilkul besics se lekr advance tak seekhate hai bas aapko mehnat krni hai agr aap online seekhna chahoge to me aapko channl ka name suggges kar dunga

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here