Aim Kaise Banaye Hindi : सफल होने के लिए लक्ष्य बनाने क्यों जरूरी है |

1
31
aim kaise banaye hindi
aim kaise banaye hindi

लक्ष्य का इंसान के जीवन मे बहुत बड़ा महत्व है जिसके कारण ज्यादातर लोग सफलता की मंजिल पर पहुचते पर आज हम आपको इस लेख मे लक्ष्य मे बारे मे सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है ताकि आपको लक्ष्य के बारे मे पता चल सके | अगर आप लक्ष्य के बारे मे जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को पूरा पढे इस लेख मे हमने आपको बताया है कि लक्ष्य क्या है ? Aim kya hai और सफल होने लिए लक्ष्य बनाने की जरूरत क्यों है ?


लक्ष्य क्या है ? Aim Kya Hai

लक्ष्य Aim अपनी सोच को एक दिशा में बांधने के लिए हम जो रास्ते अपनाते हैं उन रास्तों पर चलकर प्राप्त की गई सफलता Success लक्ष्य Goal कहलाती है | लक्ष्य बनाकर कार्य करने से आपको सफलता मिलने के अवसर बढ़ जाते हैं |

जब तक आपको यह नहीं पता होगा कि मुझे जीवन में क्या करना है और कैसे करना है तब तक आप आगे नहीं बढ़ सकते उसके लिए आपको लक्ष्यों की जरूरत होती है , क्योंकि सफल होने के लिए लक्ष्य का होना बेहद जरूरी है, बिना लक्ष्य वाला व्यक्ति जीवन में कभी भी सफलता Success प्राप्त नहीं कर सकता है|

अगर आपको अपना जीवन खुशहाली भरा जीना चाहते है तो आपको अपना एक लक्ष्य निर्धारित करना होगा जिसे प्राप्त करके आप एक अच्छा जीवन बिता सकते हैं| अगर आप अपना जीवन बिना लक्ष्य के बिता रहे हैं , तो आप में और जानवरों में कोई अंतर नहीं रह जाता है|

सफलता पाने वाले सभी लोग लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ते हैं उन्हें मालूम रहता है कि मुझे जीवन में क्या करना है इसलिए उनका पूरा ध्यान लक्ष्य पर केंद्रित रहता है|

आपको लक्ष्य तक पहुंचाने के लिए आपकी योग्यता ही सबसे ज्यादा मददगार साबित होती है लक्ष्य ही आपके मस्तिष्क का ताला खोलते हैं , जो आपके मस्तिष्क में सकारात्मक विचारों सफलता के रास्ते और आपकी ऊर्जा को एक सही दिशा दिखाते हैं | अगर आपके जीवन में लक्ष्य नहीं है तो आप जिंदगी की लहरों में उठते डूबते रहते हैं जो आपको किसी भी सफलता से परिचय नहीं करा पाएँगे|

और आप एक घने जंगल की तरह दुनिया में खो जाओगे, अगर आपके पास जंगल से निकलने का रास्ता नहीं है तो आप उस जंगल में ही खो जाओगे , लेकिन अगर आपके पास जंगल से निकलने का संपूर्ण रास्ता है , तो आप सीधे उस रास्ते की तलाश करोगे जो नक्शे में बाहर निकलने के लिए दिया गया है तभी आप उस नक्शे की सहायता से बाहर निकल पाओगे|

ऐसे ही अगर आपके पास जिंदगी का नक्शा ( लक्ष्य Goal ) ) नहीं है तो आप जीवन में इधर से उधर भटकते रहेंगे , लेकिन आप किसी भी मंज़िल तक नहीं पहुंच पाओगे|

सफलता का नियम यह कहता है –

इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां से आ रहे हैं !फर्क तो इस बात से पड़ता है कि आप कहां जा रहे हैं|

आप कहां जा रहे हैं यह सिर्फ और सिर्फ आपके द्वारा बनाए गए लक्ष्य और आपके विचार ही तय करते हैं , अगर आपके पास जीवन के लक्ष्य है , आपका आत्मविश्वास स्वयं ही बढ़ने लगता है|

आपको अपनी अक्षमता का पता चलता है जिससे आप स्वयं अनजान रहते हैं | जीवन में जितने भी उपयोग करने वाली चीजें आप देखते हो या इनका इस्तेमाल करते हो वह चीजें एकदम से स्वयं नहीं बनी | उन वस्तुओं को बनाने का विचार पहले किसी इंसान के मस्तिष्क में आया होगा|

तब जाकर उस वस्तु ( लक्ष्य ) पर मेहनत की गई तभी आप उन चीजों का आनंद ले पा रहे है | आप जीवन के जुड़ी प्रत्येक वस्तु जन्म से लेकर मृत्यु तक पहले विचार , इच्छा , आशा , कठिन परिश्रम से शुरू होती है तब जाकर आप उसे प्राप्त करते हैं|

आप कुछ पल के लिए सोचे अगर आपके मन में किसी चीज ( लक्ष्य ) को पाने का विचार ही नहीं आया तो उस चीज को कैसे प्राप्त करोगे यहाँ तक कि कपड़े पहनना , खाना पकाना , एक जगह से दूसरी जगह सफर करना दोस्तों से मिलना, पढ़ाई करना सब कामों को करने से पहले आपके मस्तिष्क में विचार आता है तब जाकर आप इन कार्यों को कर पाते है|

इंसान जिस प्रकार अपने बारे में सोचता है उसके साथ वैसा ही होने लगता है

उदाहरण के तौर पर हम आपको बता रहे हैं –

आप एक पत्र वाहक कबूतर को डिब्बे में बंद करके हजारों मील की दूरी पर ले जाकर छोड़ दे तो वह तुरंत उड़ जाएगा और तीन चक्कर लगाकर अपने बसेरे की तरफ चल देगा | दुनिया में यह अविश्वसनीय शक्ति इंसान को छोड़कर किसी के पास नहीं है|

इसी तरह इंसान में भी लक्ष्य को प्राप्त करने की ऐसी योग्यता है , जो उसे दूसरों से अलग बनाती है | जब आपके पास स्वयं के ठोस लक्ष्य होते हैं ! तो आपके मन में उन्हें प्राप्त करने के रास्ते स्वयं आने लगते हैं|

इसलिए अगर आप बड़े लक्ष्य बनाते हैं तो बड़े लक्ष्य को प्राप्त करने की सामर्थ्य आप में स्वयं आने लगती है आपके लक्ष्यों का आकार कैसा हो और सिर्फ आपके ऊपर निर्भर करता है|

जिस प्रकार अगर फुटबाल के मैदान में Goal पोस्ट न हो तो सभी खिलाड़ी मैदान में इधर उधर भटकते रहेंगे कोई भी टीम जीत हासिल नहीं कर पाएगी | ठीक उसी प्रकार अगर इंसान के जीवन में गोल पोस्ट नहीं है वो भी इधर उधर भटकता रहेगा | कभी जीत हासिल नहीं कर पाएगा|


यदि लक्ष्य न मिले रास्ते बदलो क्योंकि वृक्ष अपने पत्ते बदलते है जड़े नहीं|


दोस्तों इस आर्टिकल में हमने आपको लक्ष्य TARGET के बारे में बताया है की इंसान के जीवन में लक्ष्य का कितना महत्व है बिना लक्ष्य के इंसान का जीवन कैसा होता है ! अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया तो हमे कमेंट में बताये अगर सही न लगा हो तो भी हमें कमेंट में बताये| अगर अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करे ताकि उन्हें भी गोल बारे में पता चल सके|

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here